आईयूकेडब्ल्यूसी कार्यशाला: जल सुरक्षा के लिए जल-जलवायु सेवाएं विकसित करना

water security

भारतीय गतिविधि में अग्रणी नाम: 

डॉ अतुल कुमार सहाय

भारतीय गतिविधि में अग्रणी संस्थान: 

भारतीय उष्णदेशीय मौसम विज्ञान संस्थान (आईआईटीएम), पुणे, भारत

यूके गतिविधि में अग्रणी नाम: 

डॉ हैरी डिक्सन

यूके गतिविधि में अग्रणी संस्थान: 

सेंटर फॉर इकोलॉजी एंड हाइड्रोलॉजी (सीईएच), वॉलिंगफर्ड, यूके

इस कार्यशाला ने वैज्ञानिकों के साथ मिलकर भारत और यूके जल क्षेत्र में जलवायु सूचनाओं एवं साधनों के प्रयोग में होने वाली उत्पादन, अनुवाद और वितरण संबंधी वैज्ञानिक चुनौतियों का विश्लेषण किया जिससे नीतिगत निर्णयों को सुगम बनाया जा सके। कार्यशाला में निम्नलिखित मुद्दों को संबोधित किया गया:

  • भारत और यूके में जल प्रबंधन के मुख्य क्षेत्रों क्या हैं जहां भविष्य की योजना और अनुकूलन को सूचित करने के लिए नई जलवायु सेवाएं आवश्यक हैं?
  • जलवायु परिवर्तन के अनुमानों को जल विज्ञान समुदाय द्वारा निर्णय लेने के लिए कैसे उपयोग किया जा सकता है?
  • जल समुदाय के लिए नए उपकरणों और सूचना उत्पादों को विकसित करने के लिए जल-जलवायु प्रणाली की हमारी समझ में प्रमुख अंतराल क्या हैं?
  • जल-जलवायुवी सूचना सेवाओं के विकास के लिए स्थानीय-क्षेत्रीय मापदंड पर जल विज्ञान संबंधी डेटा की क्या आवश्यकता / उपलब्धता क्या है?
  • क्या अन्य समुदायों को उन्नत जल विज्ञान जलवायु सेवा से फायदा हो सकता है?

भावी अनुसंधान विचारों और साझेदारी को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ब्रिटेन और भारतीय वैज्ञानिकों के बीच जल-जलवायुवी सेवाओं में भविष्य के सहयोग के लिए कार्यशाला ने अवसरों का पता लगाया। विज्ञान और जल-जलवायुवी सेवाओं के वर्तमान / संभावित अंतिम उपयोगकर्ताओं के बीच संबंध बढ़ाने के तरीकों की पहचान करने के लिए प्रमुख हितधारकों की जरूरतों को ध्यान में रखा गया।

कार्यशाला की प्रस्तुति स्लाइड तथा अन्य सामग्रियां यहां देखे.

 

Activity Documents: 

गतिविधि का तिथि पंचांग: 

मंगलवार, नवंबर 29, 2016 to शनिवार, दिसंबर 31, 2016

Google map location: 

IUKWC_1st_workshop_iitm_pune